Tuesday, December 6, 2022

पीछे हटा प्रशासन, गढ़ गंगा मेला में चलेंगी भैंसा बुग्गी व घोड़ा गाड़ी, लंपी वायरस का खतरा अब भी

केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान और भाकियू के विरोध के बाद हापुड़ जिला प्रशासन बैकफुट पर आ गया है। गढ़मुक्तेश्वर गंगा मेले में भैंसा बुग्गी और बैलगाड़ी ले जाने पर रोक के खिलाफ बालियान ने कड़ा रुख अपनाया।

केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान और भाकियू के विरोध के बाद हापुड़ जिला प्रशासन बैकफुट पर आ गया है। गढ़मुक्तेश्वर गंगा मेले में भैंसा बुग्गी और बैलगाड़ी ले जाने पर रोक के खिलाफ बालियान ने कड़ा रुख अपनाया। मंत्री ने अधिकारियो को फोन करने केसाथ ही प्रदेश शासन को भी पत्र लिखा। वहीं, मंडलायुक्त ने कहा कि रोक नहीं सिर्फ लंपी वायरस को देखते हुए एडवाइजरी जारी की गई थी।

गढ़ गंगा मेले में भैंसा बुग्गी पर रोक संबंधी आदेश को लेकर केंद्रीय पशुपालन एवं मत्स्य राज्यमंत्री डॉ. संजीव बालियान ने मेरठ कमिश्नर और हापुड़ डीएम से बात करने के साथ ही प्रदेश के पशुधन एवं दुग्ध विकास मंत्री व प्रमुख सचिव को पत्र लिखकर इस फैसले को तत्काल वापस लेने की बात कही है। संजीव बालियान ने आश्वस्त किया है कि मेले में भैंसा-बुग्गी ले जाने पर कोई बैन नहीं होगा।

केंद्रीय मंत्री डा.संजीव बालियान का कहना है कि गढ़मुक्तेश्वर मेला पौराणिक एवं ऐतिहासिक है। मेले में आसपास के राज्यों एवं जनपदों के श्रद्धालु आते हैं। उन्होंने कहा कि लंपी बीमारी केवल गोवंश में है, और पश्चिमी यूपी में लंपी बीमारी को लेकर शत-प्रतिशत पशुओं में टीकाकरण हो चुका है। उन्होंने पशुधन एवं दुग्ध विकास मंत्री धर्मपाल सिंह को पत्र लिखा है। उन्होंने पशुपालन विभाग के प्रमुख सचिव रजनीश दुबे से भी बात की है। उन्होंने आश्वस्त किया कि शासन स्तर से फैसला वापस लेकर शीघ्र ही समस्या का समाधान कराया जाएगा।

भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि पहले ट्रैक्टर अब भैंसा-बुग्गी पर बैन का मतलब किसान लॉकडाउन लगाना है, जो लगने नहीं दिया जाएगा। किसान आठ दिन का राशन लेकर भैंसा-बुग्गी में मेले में जाएंगे। जहां भी पुलिस प्रशासन उन्हें रोकेगा किसान वहीं डेरा जमा लेंगे। फैसले के विरोध में वहीं आंदोलन होगा। सरकार को बैन लगाने के बजाय मेले में किसानों के पशुओं के टीकाकरण की व्यवस्था करनी चाहिए।

बात हो गई है, कोई बैन नहीं
पशुधन मंत्री, पशुपालन विभाग के प्रमुख सचिव, मेरठ मंडल की कमिश्नर से मेरी बात हो गई है। मैंने पत्र भी लिख दिया है। कोई बैन नहीं होगा। शत-प्रतिशत टीकाकरण हो चुका है। मेले में भैंसा बुग्गी चलेंगी। – डा.संजीव बा्िलयान, केन्द्रीय पशुपालन एवं मत्स्य राज्य मंत्री।परंपरा को खत्म नहीं होने देंगे
भाकियू, राष्ट्रीय प्रवक्ता, राकेश टिकैत ने कहा कि यह आदेश देश के इतिहास और परंपरा को खत्म करने की साजिश है। इसे खत्म नहीं होने देंगे। मैंने संदेश दे दिया है। इस आदेश का हर तरह से विरोध करेंगे। लाखों श्रद्धालुओं की आस्था से खिलवाड़ नहीं होने दिया जाएगा। मेरठ मंडल, कमिश्नर, सेल्वा कुमारी जे ने बताया कि प्रशासन की ओर से लंपी वायरस को लेकर एडवाइजरी जारी की गई है। लोगों से अनुरोध किया गया है कि वह भैंसा बुग्गी लेकर न जाएं। इस बात को समझना चाहिए। यह सलाह और अनुरोध है प्रशासन का। एसपी हापु़ड़, दीपक भूकर ने कहा कि गढ़ गंगा मेले में श्रद्धालुओं के आने वाले साधनों को नहीं रोका जा सकता। पशु मेले पर रोक लगा दी गई है। पशुओं का सामूहिक प्रदर्शन भी नहीं होगा।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles