Sunday, December 4, 2022

एनकाउंटर का डर: बदमाश बोला- मुझ पर 50 हजार का इनाम है मुझे गिरफ्तार कर लो, पुलिस बोली- नहीं करेंगे

सरेंडर करने आए बदमाश फरमान ने बताया कि उसके परिवार वालों की एक दरोगा से बातचीत हुई थी। जिसने उसे कचहरी में बुलाया था, लेकिन दरोगा से संपर्क नहीं हो सका। इस कारण वह किसी तरह अन्य पुलिस कर्मी से संपर्क करके गिरफ्तार होना चाहता था। क्योंकि उसे डर है कि पुलिस उसे पकड़कर एनकाउंटर कर देगी। 

अपहरण के मामले में वांछित 50 हजार का इनामी बदमाश शुक्रवार को सरेंडर करने बागपत कचहरी में पहुंच गया। जहां पुलिस ने उसे गिरफ्तार करने के लिए मना कर दिया। जिसपर वकीलों ने हंगामा भी किया कि बदमाश को पुलिस पकड़ नहीं रही है और इसको लेकर घंटों तक जद्दोजहद चलती रही। वहां घंटों खींचतान के बाद बदमाश भाग गया।

कचहरी में शुक्रवार शाम को वकील के साथ एक बदमाश सरेंडर करने पुलिस के पास पहुंचा। पुलिस ने उसे अपने यहां से वांछित न होने की बात कहते हुए नहीं पकड़ा। जिसपर बदमाश ने अपना नाम अरमान निवासी हसनपुर कलां थाना किठौर जिला मेरठ बताया। उसने पुलिस को बताया कि उसपर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित है और उसे गिरफ्तार कर लिया जाए। इसके बाद भी पुलिस ने उसे पकड़ने से इनकार कर दिया। 

बताया गया कि बुलंदशहर के खुर्जा से एक व्यापारी राजकुमार का पिछले महीने अपहरण हुआ था। उस अपहरण में यह बदमाश शामिल था, जिसमें तीन बदमाश पकड़े गए है। लेकिन वह नहीं पकड़ा जा सका और उसपर 50 हजार रुपये इनाम घोषित कर दिया था। उसने कहा कि पुलिस उसको पकड़कर एनकाउंटर कर सकती है, इसलिए वह बचने के लिए बागपत कचहरी पहुंच गया। वह किसी तरह गिरफ्तार होकर जेल जाने की फिराक में था। पुलिस के उसे गिरफ्तार करने से इनकार करने पर कुछ अधिवक्ताओं ने एकत्रित होकर हंगामा किया और पुलिस पर 50 हजार के इनामी बदमाश को गिरफ्तार नहीं करने का आरोप लगाया। 

बदमाश को एसपी आवास के सामने भी वकील लेकर पहुंचे और वहां भी पुलिस के साथ उनकी काफी नोकझोंक हुई। इसके बावजूद पुलिस ने उसे अपने यहां से वांछित नहीं होने की बात कहते हुए पकड़ने से इनकार कर दिया। इस तरह करीब एक घंटे तक खींचतान चलती रही और बदमाश वहां से भाग गया। 

बदमाश बोला, दरोगा ने बुलाया था
सरेंडर करने आए बदमाश फरमान ने बताया कि उसके परिवार वालों की एक दरोगा से बातचीत हुई थी। जिसने उसे कचहरी में बुलाया था, लेकिन दरोगा से संपर्क नहीं हो सका। इस कारण वह किसी तरह अन्य पुलिस कर्मी से संपर्क करके गिरफ्तार होना चाहता था। क्योंकि उसे डर है कि पुलिस उसे पकड़कर एनकाउंटर कर देगी। 

एक दिन पहले मेरठ सरेंडर करने का प्रयास किया
यह बताया गया है कि अपने साथियों के पकड़े जाने के बाद से उसे एनकाउंटर का डर है और वह किसी तरह सरेंडर के प्रयास में लगा है। वह बृहस्पतिवार को मेरठ में सरेंडर करने का प्रयास कर रहा था। लेकिन वहां बात नहीं बनने पर किसी के माध्यम से बागपत में सरेंडर करना चाहता था। वह कामयाब नहीं हो सका। 

कचहरी में सुनील राठी, धर्मेंद्र किरठल समेत कई बड़े बदमाशों की पेशी होनी थी। इसलिए मैं खुद कचहरी में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने गया था। जहां सूचना मिली कि कोई बदमाश सरेंडर करना चाहता है तो वहां सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई और किसी को सरेंडर नहीं करने दिया गया। क्योंकि हमारे यहां से अरमान नाम का कोई बदमाश बागपत से वांछित नहीं है। इसलिए कहा गया है कि बदमाश या अन्य किसी की गिरफ्तारी में न्यायिक प्रक्रिया अपनाई जाएगी।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles