Tuesday, November 29, 2022

पटाखे बैन विवाद : हमारी प्राथमिकता जान बचाना, राजनीति नहीं; केजरीवाल को धर्म विरोधी बताने पर ‘आप’ का पलटवार

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि जब हमारे पूर्वजों ने दिवाली मनाई थी, तब पटाखे नहीं थे, क्योंकि तब पटाखे नहीं बनते थे। लोगों की जान बचाना हर धर्म की प्राथमिकता है।

राजधानी दिल्ली में पटाखों पर प्रतिबंध को लेकर उठे विवाद के बीच आम आदमी पार्टी (आप) के नेता और दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय सरकार के इस कदम के बचाव में उतर आए हैं। राय ने रविवार को कहा कि दिल्ली सरकार की प्राथमिकता राजनीति करना नहीं, बल्कि लोगों की जान बचाना है।

बता दें कि, गुजरात भाजपा अध्यक्ष सी.आर. पाटिल ने शनिवार को दिल्ली में पटाखों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने के फैसले को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा था कि ऐसे लोग “धर्म विरोधी” हैं, जो लोगों को अपने त्योहार मनाने से रोक रहे हैं।

दिवाली से एक दिन पहले दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 250 के आसपास रहा, जो कि खराब कैटेगरी है। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि दिवाली की शाम को यह और भी खतरनाक हो सकता है। गोपाल राय ने दिल्ली के लोगों से पटाखे नहीं फोड़ने की अपील की है।

पत्रकारों से बात करते हुए राय ने कहा, हर साल सर्दियों में प्रदूषण का स्तर बढ़ जाता है। हम हर साल दिवाली मनाते हैं। इस दिवाली, हम सभी दिल्लीवासियों से प्रदूषण को रोकने में मदद करने की अपील करते हैं। कोशिश करें कि पटाखे न फोड़ें। खासकर युवाओं से अपने शहर में प्रदूषण रोकने का संकल्प लेने की अपील की जा रही है।

उन्होंने कहा कि हर दिवाली के बाद सांस लेने में दिक्कत होती है और बुजुर्गों और बच्चों पर इसका काफी असर पड़ता है। पटाखों के जलने से प्रदूषण बढ़ता है।

पटाखों पर बैन को लेकर हो रही आलोचना के जवाब में मंत्री ने कहा कि मैं राजनीति पर कुछ नहीं कहना चाहता। जो राजनीति करना चाहते हैं वे कर सकते हैं। लोगों की जान बचाना हमारी प्राथमिकता है। इस मामले को लेकर कुछ लोग सुप्रीम कोर्ट भी गए थे और कोर्ट के फैसले के बाद अब इस मामले में बहस की कोई गुंजाइश नहीं बची है। जब हमारे पूर्वजों ने दिवाली मनाई थी, तब पटाखे नहीं थे, क्योंकि तब पटाखे नहीं बनते थे। लोगों की जान बचाना हर धर्म की प्राथमिकता है।

राय ने कहा कि सरकार का फोकस लोगों को जागरूक करना है। उन्होंने दिल्ली के आसपास रिपोर्ट की गई पराली जलाने की घटनाओं पर भी चिंता जताई। राय ने कहा कि दिवाली के बाद पराली जलाने की घटनाएं बढ़ने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में हम खेतों में बायो डीकंपोजर का छिड़काव कर रहे हैं, लेकिन दिल्ली के अलावा पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी पराली जलाने का काम किया जाता है। इसे रोकने के प्रयास किए जा रहे हैं।

दिवाली के बाद दिल्ली के एक्यूआई में तेजी से बढ़ोतरी की संभावना है। इसे देखते हुए राय ने कहा कि GRAP-1 और GRAP-2 पर काम किया जा रहा है।

बता दें कि, आम आदमी पार्टी (आप) सरकार द्वारा दिल्ली में पटाखों पर प्रतिबंध लगाने के बाद से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) लगातार इस कदम का विरोध कर रही है। 

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles