Wednesday, November 30, 2022

आगरा में नलों से जल्द आएगा गंगाजल, बस आज और कल करिए इंतजार

आगरा शहर में पेयजल का संकट अभी बरकरार है। इसकी वजह से जनता को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सिकंदरा वाटर वर्क्स पर गंगाजल की आपूर्ति पूरी तरह से बंद है। जल्द नलों से गंगाजल आएगा।

आगरा शहर में पेयजल का संकट अभी बरकरार है। इसकी वजह से जनता को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सिकंदरा वाटर वर्क्स पर गंगाजल की आपूर्ति पूरी तरह से बंद है। जीवनी मंडी वाटर वर्क्स में लाइनों में जो गंगाजल शेष है वह पहुंच रहा है। इसकी वजह से दोनों ही वाटर वर्क्स से यमुना जल की आपूर्ति की जा रही है, लेकिन यह आपूर्ति पर्याप्त नहीं है। इसकी वजह से लोगों को भटकना पड़ रहा है। हालांकि शासन के हस्तक्षेप के बाद मध्य गंगा कैनाल खोल दिया है, लेकिन इसका पानी शुक्रवार तक आगरा पहुंच पाएगा।

पिछले दिनों हुई बारिश की वजह से अपर और मध्य गंगा कैनाल से जुड़े क्षेत्रों में जलभराव हो गया था। नहरों को भी नुकसान हुआ था। इसकी वजह से हरिद्वार से दोनों कैनाल को 14 अक्तूबर से बंद कर दिया गया था। इससे बुलंदशहर के पालड़ा फाल पर गंगाजल की आपूर्ति ठप हो गई। यहां से आगरा और मथुरा को दी जाने वाली गंगाजल की आपूर्ति बंद हो गई।

सोमवार रात को नगर आयुक्त और जलकल विभाग के जीएम ने शासन स्तर पर वार्ता की। त्योहार का हवाला देकर शहर में जल्द से जल्द गंगाजल की आपूर्ति कराने की मांग की, तब मंगलवार रात को मध्य गंगा कैनाल खोला गया है। जलकल विभाग के अधिकारियों का कहना है कि आगरा तक शुक्रवार रात को पानी पहुंचेगा। शनिवार सुबह तक शहर में पेयजल की आपूर्ति सामान्य होने की संभावना है।

यमुना जल की आपूर्ति हो रही शहर में
गंगाजल न मिलने से अब शहर में यमुना जल की आपूर्ति की जा रही है। जलकल विभाग के अधिकारियों के मुताबिक सिकंदरा वाटर वर्क्स पर यमुना जल शोधन के लिए 144 एमएलडी के एमबीबीआर प्लांट को पूरी क्षमता से चलाया जा रहा है। इससे करीब 100 एमएलडी शहर में दिया जा रहा है। जबकि जीवनी मंडी वाटर वर्क्स में करीब 35-40 एमलजी गंगाजल और शेष यमुनाजल मिलाकर करीब 100 एमएलडी पानी की आपूर्ति की जा रही है। जबकि शहर में सामान्य रूप से करीब 350 एमएलडी की डिमांड रहती है। त्योहार पर करीब 25 फीसदी डिमांड बढ़ गई है।

गंदा पानी आ रहा है, भटक रहे लोग
यमुना जल का ट्रीटमेंट सही ढंग से नहीं हो रहा है। इससे घरों में गंदे पानी की आपूर्ति हो रही है। इस पानी को पीया नहीं जा सकता, घरेलू कामों में भी इसका प्रयोग करने में लोगों को परेशानी हो रही है। करीब 150 एमएलडी कम और गुणवत्ता खराब होने की वजह से लोगों को पानी के लिए भटकना पड़ रहा है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles