Saturday, November 26, 2022

तिरुपति मंदिर के पास कितनी संपत्ति? ट्रस्ट ने बताया इतना सोना और रुपया

टीटीडी की तरफ से जारी प्रेस रिलीज में कहा गया है कि श्रीवरि के भक्त इस तरह की झूठी बातों पर यकीन न करें। इसके मुताबिक टीटीडी का कैश और सोना विभिन्न बैंकों में पारदर्शी तरीके से रखा गया है।

क्या आप जानते हैं तिरुपति मंदिर ट्रस्ट के पास कितनी संपत्ति है? तिरुपति टेंपल देवस्थानम (टीटीडी) ट्रस्ट द्वारा इस बारे में जानकारी दी गई है। ट्रस्ट द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारी में इसके पास मौजूद फिक्स्ड डिपॉजिट्स और गोल्ड डिपॉजिट्स के बारे में भी बताया गया है। इस जानकारी के मुताबिक तिरुपति मंदिर ट्रस्ट के पास 10 टन सोना और 15,900 करोड़ रुपए कैश है। साथ ही यह भी बताया गया है कि ट्रस्ट ने 2019 की इन्वेस्टमेंट गाइडलाइंस के मुताबिक इसको और बेहतर बनाया है।

सोशल मीडिया रिपोर्ट्स को किया खारिज
इसके साथ ही ट्रस्ट ने उन सोशल मीडिया रिपोर्ट्स को भी खारिज किया है, जिसमें कहा गया है कि टीटीडी के चेयरमैन ने सरप्लस अमाउंट को आंध्र प्रदेश सरकार की सिक्योरिटीज में जमा किया है। ट्रस्ट के मुताबिक सरप्लस अमाउंट शिड्यूल्ड बैंकों में जमा किया गया है। टीटीडी की तरफ से जारी प्रेस रिलीज में कहा गया है कि श्रीवरि के भक्त इस तरह की झूठी बातों पर यकीन न करें। टीटीडी का कैश और सोना विभिन्न बैंकों में पारदर्शी तरीके से रखा गया है। मंदिर की कुल संपत्तियों में कुल 960 संपत्तियां भी हैं जो पूरे भारत में 7,123 एकड़ में फैली हुई हैं। 

साल-दर-साल बढ़ी है वैल्यू
मंदिर ट्रस्ट के मुताबिक 10.3 टन सोना राष्ट्रीयकृत बैंकों में जमा किया गया है। इसकी वैल्यू 5300 करोड़ रुपए से ज्यादा है। वहीं, मंदिर ट्रस्ट के पास 15,938 करोड़ रुपए का कैश है। इस तरह से ट्रस्ट के पास कुल 2.26 लाख करोड़ रुपए की संपत्ति होने की बात सामने आई है। टीटीडी के एग्जीक्यूटिव अफसर एवी धर्मा रेड्डी ने इस बारे में टाइम्स ऑफ इंडिया को जानकारी दी है। इसके मुताबिक टीटीडी का 2019 से विभिन्न बैंकों में 13,025 करोड़ रुपए फिक्स था, अब यह बढ़कर 15,938 करोड़ रुपए हो चुका है। वहीं, 2019 में ट्रस्ट के पास 7339.74 गोल्ड था, जो पिछले तीन साल में बढ़कर 2.9 टन हो गई है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles