Thursday, December 1, 2022

लखनऊ: सूर्य उपासना का 4 दिवसीय पर्व छठ आज से

घर से लेकर घाट तक तैयारियां जोरों पर

राजधानी लखनऊ समेत कई जिलों में तैयारियां

4 दिवसीय छठ पर्व विधिवत रूप से आज शुरू होगा

घाटों की साफ सफाई में लगा प्रशासन

लखनऊ में लक्ष्मण मेला ग्राउंड में होगा सबसे बड़ा जमावड़ा

नगर निगम समेत कई विभाग तैयारियों में जुटे।

भगवान भास्कर को समर्पित लोक आस्था का महापर्व छठ पूजा कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी को मनाया जाता है। छठ पर्व सूर्य की उपासना का पर्व है, इसलिए इसे सूर्य षष्ठी व्रत के नाम से भी जाना जाता है। चार दिनों का यह पर्व चतुर्थी से ही शुरू होकर सप्तमी की सबुह उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ खत्म होता है।  ऐसी मान्यता है कि इन दिनों में सूर्य देव और छठी मईया की अराधना करने से व्रती को सुख, सौभाग्य और समृद्धि की प्राप्ति होती है और उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। षष्ठी देवी की पूजा से संतान को स्वास्थ्य, सफलता और दीर्घायु होने का आशीर्वाद भी मिलता है।

छठ पूजा का पहला दिन नहाय खाय होता है। इस दिन स्नान के बाद घर की साफ-सफाई की जाती है और शाकाहारी भोजन किया जाता है। बिहार में लौकी खाने की परंपरा है। छठ पूजा के दूसरे दिन खरना में व्रती पूरे दिन के उपवास करते हैं। शाम के समय गुड़ की खीर, घी लगी हुई रोटी और फलों का सेवन करते हैं। साथ ही घर के बाकी सदस्यों को इसे प्रसाद के तौर पर दिया जाता है। व्रती इसके बाद से लेकर सप्तमी के दिन सूर्यदेव के अर्घ्य देने तक करीब 36 घंटे का व्रत रखते हैं और पानी तक नहीं पीते हैं।

तीसरे दिन यानी कार्तिक शुक्ल षष्ठी को संध्या के समय सूर्य देव को अर्घ्य दिया जाता है। बाँस की टोकरी में फलों, ठेकुआ, चावल के लड्डू आदि से अर्घ्य का सूप सजाया जाता है और नदी, तालाब या पोखर के किनारे सूर्य देव को जल और दूध से अर्घ्य दिया जाता है। इसके साथ ही प्रसाद भरे सूप से छठी मैया की पूजा की जाती है। शाम को घर लौटने के बाद रात में छठी माता के गीत गाए जाते हैं और व्रत कथा सुनी जाती है।

सप्तमी यानी चौथे दिन सुबह के समय सूर्योदय से पहले जलस्रोत के पास पहुंचकर उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाता। इसके बाद छठ माता से संतान की रक्षा और पूरे परिवार की सुख शांति का वर मांगा जाता है। पूजा के बाद व्रती थोड़ा प्रसाद खाकर व्रत पूरा करते हैं, जिसे पारण या परना कहा जाता है

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles