Friday, November 25, 2022

श्रीकृष्ण जन्मभूमि विवाद: 10 नवंबर को मुस्लिम पक्ष तो 30 को हिंदू महासभा के दावों पर सुनवाई

मथुरा श्री कृष्ण जन्मभूमि विवाद मामले में जिला अदालत अधिवक्ता महेंद्र प्रताप की ओर से दायर किए गए दावे 10 नवंबर और हिंदू महासभा दलीलें 30 नवंबर को सुनेगी. दोनों पक्षों की दलीलें और दावों पर गहन अध्ययन के बाद कोर्ट कोई फैसला ले सकती है.

मथुरा श्री कृष्ण जन्मभूमि विवाद मामले में शुक्रवार को अगले महीने की दो नई तारीखों का ऐलान किया गया है. जिला अदालत अधिवक्ता महेंद्र प्रताप की ओर से दायर किए गए दावे 10 नवंबर और हिंदू महासभा दलीलें 30 नवंबर को सुनेगी. दोनों पक्षों की दलीलें और दावों पर गहन अध्ययन के बाद कोर्ट कोई फैसला ले सकती है. इससे पहले तीन अक्टूबर को मामले में जिला अदालत में सुनवाई होनी थी. लेकिन किसी कारण तारीख आगे बढ़ा दी गई और अगली सुनवाई की तारीख 28 अक्टूबर मुकर्रर हुई थी.

आपको बता दें कि श्री कृष्ण जन्मस्थान ईदगाह मामले में अखिल भारत हिंदू महासभा के पदाधिकारियों ने एक के बाद एक दावे किए हैं. सबसे पहले राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष दिनेश शर्मा ने फिर महासचिव अवधेश त्रिपाठी और उसके बाद राष्ट्रीय प्रवक्ता शिशिर चतुर्वेदी ने वाद कोर्ट में दाखिल किए. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उनका दावा है कि श्री कृष्ण जन्मस्थान की 13.37 एकड़ जमीन पर है. इसके साथ ही मांग है कि शाही ईदगाह को अवैध करार देते हुए हटाया जाए.

16 वीं शताब्दी में औरंगजेब कराया था निर्माण

मालूम हो कि श्रीकृष्ण जन्मस्थान ईदगाह मामले में कोर्ट में शाही ईदगाह के सचिव तनवीर अहमद की तरफ से स्थायित्व 7 रूल 11 के मसले पर बहस हुई थी. उस दौरान कोर्ट को बताया गया कि शाही ईदगाह का निर्माण औरंगजेब ने 16वीं शताब्दी में कराया था. उस दौरान स्थान पर कोई मंदिर था ही नहीं. यह जमीन औरंगजेब की थी और उसने अपनी ही जमीन पर ईदगाह बनवाई थी. करीब डेढ घंटे चली बहस के बाद कोर्ट में मुस्लिम पक्ष ने साल 1991 में तैयार पूजा स्थल अधिनियम पर भी अपना पक्ष रखा. कोर्ट को बताया कि पूजा स्थल अधिनियम के तहत दावा कोर्ट में चलने योग्य ही नहीं है.

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles