Friday, November 25, 2022

हौसले से बची आठ की जान…बार-बार गोता लगाता और नदी में बेटे को खोजता रहा बेबस पिता

बाराबंकी की सुमली नदी में नाव पलटने की घटना के बाद जहां प्रशासनिक लापरवाही दिखी वहीं घटना के बाद नाव में सवार लोगों व बाहर खड़े युवकों के हौसलों ने करीब आठ जानें बच गई। मेले के दौरान नाव का संचालन हो रहा था मगर सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं किए गए थे। दो बच्चों समेत तीन लोगों की मौत से सालपुर गांव में मातम का माहौल है। मोहम्मदपुर खाला थाना क्षेत्र में बैरनामऊ मंझारी गांव के कार्तिक पूर्णिमा मेले में सोमवार को दंगल का आयोजन था। इस मेले में आसपास के गांवों के लोग एकत्र होते हैं। सालपुर समेत आधा दर्जन गांवों के लोग नदी पार करके आते हैं। मंगलवार सुबह से ही नाव से लोगों का आना जारी था। लेकिन यहां सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं थे। एक होमगार्ड तक नहीं तैनात किया गया था। नाव बेरोकटोक चल रही थीं। जल्दी जाने के चक्कर में दोपहर करीब तीन बजे सालपुर गांव के 25 लोग नाव में सवार हो गए।

 नाव में बैठने की जगह भी नहीं बची थी। वह तो अच्छा था कि मेले के कारण नदी के दोनों किनारों पर लोग मौजूद थे। नाव पलटी तो सालपुर गांव के अशोक, राज, कृपाराम, सुकई, प्रवेश, निर्मला देवी, सचिन, दूबे, पंकज, नीतू जैसे तैसे बाहर तो निकल आए मगर बाकी लोग फंस गए।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles