Thursday, December 1, 2022

कोरोना की नई लहर की आहट, XBB वैरिएंट कितना घातक? WHO साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन ने दिए जवाब

भारत के कुछ प्रदेशों में कोरोना के मामले सामने आने लगे हैं। वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मास्क लगाए रखने की ताकीद दी है। इस बीच डब्लूएचओ की तरफ से कोरोना को लेकर बड़ी चेतावनी जारी की है।

भारत के कुछ प्रदेशों में कोरोना के मामले सामने आने लगे हैं। वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मास्क लगाए रखने की ताकीद दी है। इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) की तरफ से कोरोना को लेकर बड़ी चेतावनी जारी की गई है। डब्लूएचओ की चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन ने कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर चिंता जताई है। सौम्या के मुताबिक XBB वैरिएंट इम्यून सिस्टम को धोखा देकर संक्रमण का शिकार बना सकता है। साथ ही उन्होंने कुछ देशों में कोरोना की नई लहर की चेतावनी भी दी।

300 से ज्यादा सब-वैरिएंट चिंता के सबब
डब्लूएचओ की चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन शुक्रवार को पुणे में मीडिया से बात कर रही थीं। इस दौरान उन्होंने कहा कि कोरोना के 300 से ज्यादा सब-वैरिएंट चिंता का विषय बने हुए हैं। इसमें भी एक्सबीबी वैरिएंट ज्यादा घातक है। उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि यह वैरिएंट इम्यून सिस्टम को धोखा देने में सक्षम है। सौम्या ने कहा कि हमने पहले भी कई घातक वैरिएंट देखे हैं, लेकिन यह वैरिएंट एंटीबॉडीज पर हावी हो सकता है। सौम्या के मुताबिक इस वैरिएंट के चलते कुछ देशों में फिर से कोरोना की लहर आ सकती है। 

नए वैरिएंट्स पर निगाह
इस दौरान सौम्या ने कहा कि हम एक्सबीबी के साथ-साथ बीए5 और बीए1 पर भी निगाह लगाए हुए हैं। उन्होंने कहा कि यह दोनों वैरिएंट भी बेहद घातक हैं। इन वैरिएंट्स का संक्रमण तेजी से फैलता है और यह इम्यून सिस्टम को धोखा दे सकते हैं। डब्लूएचओ की चीफ साइंटिस्ट ने कहा कि फिलहाल किसी देश से किसी तरह का आंकड़ा नहीं मिला है, जिसके आधार पर यह अनुमान लगाया जाए कि यह वैरिएंट्स कितने घातक हैं। हालांकि उन्होंने मॉनिटरिंग और ट्रैकिंग पर खास जोर देने की बात कही। साथ ही यह भी कहा कि जीनोम सीक्वेंसिंग भी होते रहने चाहिए।

भारत में क्या स्थिति
बता दें कि भारत में मंगलवार को महाराष्ट्र में कोरोना के मामलों में 17.7 फीसदी की उछाल दर्ज की गई है। प्रदेश स्वास्थ्य मंत्रालय ने स्वास्थ्य बुलेटिन में यह जानकारी दी। महाराष्ट्र में आए नए केसेज में एक एक्सबीबी वैरिएंट भी है। इसके अलावा बी.ए.2.3.20 और बीक्यू.1 वैरिएंट भी यहां पाया गया है। वहीं केरल में एक्सबीबी वैरिएंट का एक केस पाया गया है। 

क्या है एक्सबीबी वैरिएंट और कितना घातक
एक्सपर्ट्स के मुताबिक एक्सबीबी वैरिएंट ऑमिक्रॉन के दो सब-वैरिएंट बीजे.1 और बीए.2.75 का ही सबवैरिएंट है। एक्सबीबी वैरिएंट कितना घातक है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इसने हाल ही में सिंगापुर में काफी तेजी से संक्रमण फैलाया था।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles