jamghat

बेमिसाल मुलेठी है हर रोग की दवा, जानें किन मायनों में है लाभकारी

Mulethi Benefits: भारतीय किचन में मौजूद मुलेठी कई रोगों के लिए गुणों से भरपूर मानी जाती हैं. मुलेठी एक आयुर्वेदिक जड़ी है. मुलेठी को आप चूस कर या अन्य तरीके से इस्तेमाल कर सकते हैं.

यह शरीर के अंदरूनी चोटों को दूर करने में बहुत फायदेमंद होती है. कोई दिक्कत न होने पर भी कभी-कभी मुलेठी का सेवन कर लेना चाहिए. मुलेठी स्वाद में शक्कर से भी मीठी होती है. आजकल बाजारों में मिलने वाली मुलेठी की पहचान आप पीली, रेशेदार और हल्की गंध वाली मुलेठी से कर सकते हैं.

शरीर में फेफड़े एक महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा हैं, जो सांस लेने में मदद करते हैं. अस्‍वस्‍थ फेफड़े कैंसर, अस्‍थमा और टीवी जैसी घातक बीमारियों को बढ़ावा दे सकते हैं. ऐसे में लंग्स यानी फेफड़ों को मजबूत करने के लिए मुलेठी बहुत कारगर होती है. असल में मुलेठी में कैल्शियम, एंटीऑक्सिडेंट, एंटीबायॉटिक और प्रोटीन अच्छी मात्रा में पाया जाता है. यह सिर्फ सर्दी और खांसी में ही नहीं बल्कि वायरल फ्लू से भी बचाने में मदद करती है. तो चलिए जानते हैं मुलेठी के बेमिसाल फायदों के बारे में.

1. खांसी छूमंतर- सर्दियों के मौसम में लोग खांसी की समस्या काफी परेशान रहते हैं. इसके लिए आप मुलेठी के एक टुकड़े को चूस कर खाएं, इससे खांसी में आराम मिलेगाा.

2. फेफड़े होंगे मजबूत- मुलेठी सांस संबंधी समस्‍याओं के लिए काफी असरदार है. इसमें पाए जाने वाले कंपाउंड फेफड़ों में जमा होने वाले म्‍यूकस को निकालकर बाहर कर देते हैं. सर्दियों में मुलेठी का आप नियमित इस्‍तेमाल कर सकते हैं. इससे सांस प्रक्रिया बेहतर होती है.

3. घने और लंबे बाल- मुलेठी रूखे और बेजान बालों के लिए काफी गुणकारी है. इसके लिए मुलेठी और आंवले के पाउडर को बराबर मात्रा में पानी में मिलाकर पिएं. इससे बाल घने और लंबे होते हैं.

4. मुंह के छालों से राहत- अक्सर कई लोगों को मुंह में छालों की समस्या होती है. मुंह में छाले निकलने से आप ठीक से खा-पी नहीं पाते. इन्हें दूर करने के लिए आप मुलेठी के एक टुकड़े में शहद लगाकर चूस सकते हैं.

5. मासिक रोग में आराम- मुलेठी के चूर्ण को आप लगभग एक महीने तक शहद में एक चम्मच मिलाकर सुबह शाम खाएं. इससे मासिक संबंधी सभी रोग दूर हो जाते हैं.

Disclaimer: इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.

Exit mobile version