Tuesday, December 6, 2022

वाल्मीकि जयंती पर योगी आदित्यनाथ बोले- महर्षि वाल्मीकि ने कराया भगवान श्रीराम से साक्षात्कार

लखनऊ, Maharshi Valmiki Jayanti: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने रविवार को महर्षि वाल्मीकि की जयंती (Maharshi Valmiki Jayanti) पर उनको नमन करने के साथ ही उनको महान रचनाकार बताया।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक (Dy CM Brijesh Pathak) के साथ नेताजी सुभाष चंद्र चौक पर महर्षि वाल्मीकि की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

चित्रकूट पर्यटन का समृद्ध केन्द्र बनेगा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महाकाव्य रामायण के रचयिता आदिकवि महर्षि वाल्मीकि की जयंती इस अवसर पर कहा कि महर्षि वाल्मीकि की तपोस्थली चित्रकूट को प्रदेश सरकार बड़े पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने में लगी है। कुछ वर्ष में चित्रकूट पर्यटन का समृद्ध केन्द्र बनेगा। मुख्यमंत्री ने इसके साथ ही वाल्मीकि समाज की समस्याएं को लेकर कहा कि आयोग बनाकर उनको शीर्ष प्राथमिकता पर दूर किया जा रहा है।

भगवान श्रीराम का साक्षात्कार हम सबसे करवाया

महर्षि वाल्मीकि की जयंती पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस धराधाम पर चांद जैसी शीतलता प्रदान करके रामायण की रचना करने वाले त्रिकालदर्शी महर्षि वाल्मीकि की आज जयंती है। महर्षि वाल्मीकि ने भगवान श्रीराम का साक्षात्कार हम सबसे करवाया। महर्षि वाल्मीकि ने भगवान राम पर पहला महाकाव्य वाल्मीकि रचा था। इसके बाद दुनिया भर में इसी ग्रंथ को आधार बनाकर भगवान श्रीराम के चरित्र को रचा गया। हमारा सौभाग्य है कि आज महर्षि वाल्मीकि के पावन जन्मोत्सव मना रहे हैंं।

चित्रकूट में महर्षि वाल्मीकि का पावन धाम

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज महर्षि वाल्मीकि जयंती पर मुझे बताते हुए प्रसन्नता है कि अयोध्या में भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर युद्धस्तर पर बन रहा है। उन्होंने कहा कि महर्षि वाल्मीकि का पावन धाम, उनकी तपोस्थली लालापुर चित्रकूट में है। उसी चित्रकूट में भगवान श्रीराम ने वनवास के समय सर्वाधिक समय चित्रकूट में ही व्यतीत किया था। उसी चित्रकूट में महर्षि वाल्मीकि की तपस्थली लालापुर है। उसी चित्रकूट में संत तुलसीदास की जन्मभूमि राजापुर भी स्थित है। हमारी सरकार ने दोनों पावन स्थलों को सौंदर्यीकरण करके पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने कार्य किया है। लालापुर में पहाड़ी पर आसानी से जाने के किये रोपवे की भी व्यवस्था की गई है।

वाल्मीकि समाज के लिए एक आयोग

उन्होंने कहा कि मेरे सामने वाल्मीकि समाज के हित के लिए उनसे जुड़ी कुछ समस्याएं का प्रतिवेदन मुझे मिला है। हमने प्रदेश में इस समाज के लिए एक आयोग भी बनाया है। उसका चेयरमैन वाल्मीकि समाज के ही व्यक्ति को बनाया है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सफाई कार्मिकों के उत्थान के लिए राज्य सरकार या केंद्र सरकार स्तर से जो कुछ अच्छा हो सके उसकी रिपोर्ट आयोग दे। हम सब उनके लिए हर संभव प्रयास करेंगे। महर्षि वाल्मीकि जन्मोत्सव समारोह में उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक, विधायक डा. नीरज बोरा, आशुतोष टंडन, योगेश शुक्ला, महापौर संयुक्ता भाटिया व नगर आयुक्त इंद्रजीत सिंह समेत समाज के कमल वाल्मीकि सहित कई लोग मौजूद थे।

शरद पूर्णिमा की बधाई दी

मुख्यमंत्री ने शरद पूर्णिमा पर सभी की बधाई दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि शरद पूर्णिमा की मान्यता है कि चंद्रमा आज सबसे अधिक चमकीला होता है और धरती के सबसे नजदीक होता है।  

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles